धरती का अमृत है ये पौधा , जड़ से खत्म कर देता है सैकड़ों लाइलाज बीमारियाँ, जरूर पढ़ें - Anilkarwasra

Breaking

About Author

BANNER 728X90

Friday, December 27, 2019

धरती का अमृत है ये पौधा , जड़ से खत्म कर देता है सैकड़ों लाइलाज बीमारियाँ, जरूर पढ़ें

आज मैं आप को लहसुन के बारे में बताने जा रहा हूँ ,दोस्तों मैंने लहसुन पर एक पोस्ट डाली थी। उस पोस्ट पर पाठको के बहुत ज्यादा कमेंट आये और बहुत ही लोगों ने कमेंट में कहा कि लहसुन के और भी बताएं। इसलिए मैं यह दूसरी लहसुन पर ही पोस्ट लिख रहा हूँ और आशा करता हूँ कि ये भी आपको पहले की भाँती बहुत ही लाभदायक साबित होगी। लहसुन को धरती का अमृत कहा जाता है ,क्योकि इसकी सिर्फ एक कली आपके शरीर के सैकड़ों रोगों से दूर रखेगी।

कहाँ पाया जाता है लहसुन का पौधा
लहसुन की खेती समस्त भारत में होती है। ख़ास कर यह मैदानी भागों वाले प्रदेशों में अधिक उगाया जाता है। इसके तने और पत्तियों का साग बहुत ही स्वादिस्ट बनाता है ,इस लिए इसको हरी सब्जी में भी प्रयोग करतें हैं।
लहसुन के औषधीय गुण और बीमारियों का उपचार भाग -2
दोस्तों इससे पहले मैं इसके बारे में बहुत सी बीमारियों के बारे में बता चुका हूँ आज मैं अन्य लाभ बताऊंगा। अगर आप कमेंट द्वारा इसके अलावा भी और लाभ पूंछेंगे तो मैं आपको अगली पोस्ट में और भी बताऊंगा। अगर आप खांसी से पीड़ित हैं तो पांच बूंद लहसुन का रस एक चम्मच शहद में मिलाकर रोजाना दो बार लेने से खाँसी ठीक हो जाती है। गले के इंफेक्‍शन में लाभदायक इस मिश्रण को लेने से गले का संक्रमण भी दूर होता है |
अगर आपका गला दर्द कर रहा है तो लहसुन की चार कलियाँ में सिरका डालकर इसके बाद चटनी पीसकर रोजाना दो बार खाने से गला दर्द ठीक हो जाता है। यह गले की सूजन को भी खत्म कर देता है | अगर आपके कान में बहुत दर्द है या फिर मैल जैम गया है तो सरसों के तेल या तिल के तेल में लहसुन की कलियाँ डालकर गर्म कर लें, जब लहसुन जल जाये तो इसको नीचे उतार लें इसके बाद इसको ठंडा होने पर किसी छलनी से छानकर एक दो बूंदे कान में डाल लें | इससे आपका कान का दर्द तुरंत बंद हो जाएगा और उसमें जमा मैल भी बाहर आ जाएगा। अगर आप इन्फ्लूएंज से पीड़ित हैं तो एक कली लहसुन और दो कालीमिर्च पीसकर रोजाना दो बार सूंघने से फ्लू के कीटाणु मर जाते हैं, और फ्लू बहुत ही जल्दी ठीक हो जाता है।अगर आपके कमर में दर्द हो रहा है तो सरसों के तेल में अजवायन, लहसुन, हिंग डालकर लहसुन काला पड़ जाने तक गर्म करें फिर इस तेल को ठंडा करके इससे मालिश करें, इससे तुरंत दर्द ठीक हो जायेगा | यह प्रयोग गठिया और जोड़ो के दर्द में नियमित अपनाने से आश्चर्य जनक लाभ देता है| अगर आपको लगातार मोटापा सता रहा है और आप दिन व् दिन मोटे होते जा रहे हैं तो लहसुन का खाली पेट एक से दो कली खाने और नियमित व्यायाम से मोटापा बहुत जल्दी भाग जाता है।
अगर आपके दांतों में दर्द की शिकायत है तो लहसुन की एक कली को पीस कर दर्द वाले स्थान पर रखने से दांत का दर्द बंद हो जाता है। अगर आप सोरायसिस की समस्या से पीड़ित हैं तो कच्चा लहसुन रोजाना लम्बे समय तक खाते रहें। सोरायसिस ठीक करने के लिए एक चम्मच लहसुन का रस एक गिलास पानी में मिलाकर रोगग्रस्त त्वचा को इससे रोजाना एक बार धोयें। यदि खुजली तेज हो रही हो और जलन भी पड़ रही हो तो लहसुन को तेल में उबालकर उसे छान लें और इस तेल को नियमित रूप से लगायें। यह समस्या आपकी बहुत जल्द समाप्त हो जायेगी। अगर की नसों में वसा जैम गई है और गांठे सी पड़ने लगीं हैं तो दो कलियों को शहद में डाल दे और एक घंटे बाद इनका खाली पेट सेवन करें ,कुछ ही दिनों में आपकी नासो की वसा गायब हो जायेगी। अगर आप महिला या पुरुष जोड़ों के दर्द से परेशान हैं तो तो पुरुष को दो कली और महिला को एक कली सुबह आव दस्त के बाद खाली पेट सेवन करने से जोड़ों का दर्द कुछ ही दिनों में समाप्त हो जता है। पुरुषों के लिए लहसुन बलबर्धक होता है इससे इनकी सभी गुप्त समस्याएं समाप्त होती हैं। दोस्तों अगर आप लहसुन और शहद का रोज सेवन करते हो तो कभी भी आपको कोई बीमारी नहीं आयेगी और आप सदैव स्वस्थ बने रहेंगे।

No comments:

Post a Comment

Please do not enter any spam link in the comment box.